Monday, April 9, 2012

कामसूत्र -लेखिका के. आर. इंदिरा

वात्स्यायन थे 'पुरुषवादी',अब नया कामसूत्र.
वात्स्यायन के कामसूत्र को अब महिलाओं के नजरिए से लिखने की कोशिश हो रही है। यह पहल की है लेखिका के. आर. इंदिरा ने। महिलाओं को कामसूत्र का पाठ पढ़ाने वाली उनकी किताब जून के पहले हफ्ते में रिलीज़ होगी।
इंदिरा का मानना है कि वात्स्यायन के कामसूत्र को पुरुषों के नजरिए से लिखा गया है। जिसमें बताया गया है कि महिलाओं का कैसे इस्तेमाल किया जाए।
DEKIYE

3 comments:

रविकर said...

उत्कृष्ट कृति |
बुधवारीय चर्चा-
मस्त प्रस्तुति ||

charchamanch.blogspot.com

virendra sharma said...

स्वागतम .

shyam gupta said...

स्वागत है नारीवादी द्रष्टि का भी....

गर्भाशय की सूजन Uterus Swelling

अक्सर लोगों को पेट में दर्द की समस्या होती है। कई बार ये दर्द लाइफस्टाइल में हुए बदलाव, मौसम में बदलाव और गलत-खान-पान के चलते होता है। लेक...