Monday, March 19, 2012

ब्लॉगर्स मीट वीकली (35) , पुरुष नारी सम्बन्ध तन मन और आत्मा तीनों स्तर पर

ब्लॉगर्स  मीट वीकली (35)

का ख़ास मौज़ू है प्रेम .
क्या प्रेम आदमी की रोग प्रतिरोध क्षमता को बाधा देता है ?
साइको -सेक्स्युअलिति और ओब्सेसिव कम्पल्सिव दिस -ऑर्डर की संक्षिप्त और सुन्दर व्याख्या भी यहाँ पर है .
 
और साथ में एक चर्चित पोस्ट :

दोगुना जीना चाहते हैं तो जीवन साथी पर आनंद रस बरसाइये Better Sex Better Life





अगर आपने अपने जीवन साथी को तन मन और आत्मा तीनों स्तर पर संतुष्ट कर दिया तो उसके रोम रोम से, उसके दिल से आपके लिए दुआएं निकलेंगी और तब बीमारियां आपका कुछ बिगाड़ नहीं सकतीं। तन के स्वस्थ रहने में मन का रोल बहुत अहम है। हमारे भारतीय बुज़ुर्ग ऐसा कहते हैं और हम यही मानते हैं और आधुनिक परीक्षणों से भी इसकी सत्यता प्रमाणित हो चुकी है।
 

1 comment:

Asha Lata Saxena said...

दुआ का प्रभाव ही है कि जीवन सफल होता है |अच्छी प्रस्तुति |
आशा

गर्भाशय की सूजन Uterus Swelling

अक्सर लोगों को पेट में दर्द की समस्या होती है। कई बार ये दर्द लाइफस्टाइल में हुए बदलाव, मौसम में बदलाव और गलत-खान-पान के चलते होता है। लेक...