Saturday, August 20, 2011

पूरा सच जानना चाहें तो देखिये 'कट्टरता और प्रतिबद्धता में अंतर' Kattar


सिद्धांतों के लिए प्रतिबद्धता को लोग कट्टरता का नाम दे देते हैं।
कट्टरता घातक होती है, इसमें आदमी नया सीखने की और निष्पक्ष होकर सामयिक ज़रूरतों के मुताबिक़ सही फ़ैसला करने की क्षमता खो देता है जबकि अविचल भाव से अच्छे उसूलों के लिए त्याग करना प्रतिबद्धता कहलाता है।

हमें आज कल्याणकारी सत्य के लिए प्रतिबद्ध समाज के निर्माण की घोर आवश्यकता है। ऐसा समाज जिसमें कट्टरता के लिए कोई गुंजाइश न हो।

पूरा सच जानना चाहें तो देखिये :

नेकी को इल्ज़ाम न दो

No comments:

लव जिहाद से लैंड जिहाद तक

 जिहाद से जुड़ी शब्दावली शायद कहीं खत्म हो ऐसा लगता नहीं है मुस्लिम विरोधी संगठन राजनीति में अपनी बढ़त के लालच में नए नए शब्द गढ़ते जा रहे ...