Sunday, August 28, 2011

‘अवतार तकनीक‘ : दुष्टों के विनाश के लिए Hindi Blogging Guide (31)


आम तौर से राजपूत, गूजर, जाट और पठान आदि जातियों के सदस्य इस तकनीक का अच्छा इस्तेमाल अनायास ही करते देखे गए हैं।
यह तकनीक एक बहुत भारी तकनीक है क्योंकि लड़ना असल काम नहीं है बल्कि यह असल बात है कि किस मक़सद के लिए लड़ा जा रहा है ?
अवतार की लड़ाई मात्र एक लड़ाई नहीं होती बल्कि वह सब लड़ाईयों का अंत करती है। 
अवतार कभी अपने आप नहीं लड़ता और न ही उसे लड़ने की कोई इच्छा होती है लेकिन दुखी और परेशान हाल सज्जन लोग उसके पास आते हैं और बताते हैं कि बुरे लोग किस किस तरह उन्हें टॉर्चर कर रहे हैं ?
किस तरह वे ईश्वर और धर्म का मज़ाक़ उड़ा रहे हैं ?
किस तरह वे नैतिकता की धज्जियां उड़ा रहे हैं ?

अवतार का मक़सद इन्हीं गुणों की रक्षा करना होता है। इन गुणों की रक्षा के लिए वह बुरे लोगों को उपदेश देता है लेकिन अगर बुरे लोगों को उपदेश से ही सुधरना होता तो उपदेश तो वे उससे पहले भी सुन रहे थे। वे उसका भी मज़ाक़ उड़ाते हैं। पापी लोग समझते हैं कि यह भी उपदेश देने के सिवा कुछ और नहीं कर पाएगा और ऐसा सोचकर वे उसे भी घेर लेते हैं और उससे भिड़ जाते हैं।
उपदेश को बेकार जाता देखकर और ख़ुद को घिरा देखकर अवतार के पास अब कोई और उपाय शेष ही कब रहता है ?
अब एक भयानक रण होता है जिसे हिंदी ब्लॉगिंग की दुनिया में महाभारत का नाम दिया जा सकता है। 
पापी वे होते हैं जो युद्ध के बाद लुंज पुंज और हताश-निराश से नज़र आएं जबकि युद्ध के बाद अवतार पहले से ज़्यादा तेजोमय और बलशाली होकर उभरता है।
एक नया ब्लॉगर भी इस ‘अवतार तकनीक‘ का इस्तेमाल कर सकता है लेकिन इसकी बुनियादी शर्तों में से यह है कि शुरूआत लड़ाई से न हो बल्कि उपदेश से हो और मसला बातचीत से सुलझ जाए तो फिर लड़ाई की कोई गुंजाइश ही नहीं है।

यहाँ देखें पूरी पोस्ट : http://hbfint.blogspot.com/2011/08/hindi-blogging-guide-31.html

1 comment:

DR. ANWER JAMAL said...

यह हक़ीक़त है कि अन्ना को मिला समर्थन अद्भुत है।
हमने भी अन्ना को समर्थन दिया जबकि इसी मुददे को लेकर बाबा रामदेव आए तो हमने उन्हें समर्थन नहीं दिया और हमारी तरह और बहुत लोगों ने भी समर्थन नहीं दिया।
जनता ने इतना भारी समर्थन कभी किसी को बाद आज़ादी नहीं दिया।
अच्छा है इस बहाने जनता का काफ़ी ग़ुस्सा रिलीज़ हो गया और अब जनता को ग़ुस्से में आने में समय लग सकता है तब तक नेता जनता को गुमराह करने की पूरी कोशिश करेंगे।

ब्लॉगर्स मीट वीकली (6) Eid Mubarak में आपका स्वागत है।
इस मुददे पर कुछ पोस्ट्स मीट में भी हैं और हिंदी ब्लॉगिंग गाइड की 31 पोस्ट्स भी हिंदी ब्लॉग जगत को समर्पित की जा रही हैं।

लव जिहाद से लैंड जिहाद तक

 जिहाद से जुड़ी शब्दावली शायद कहीं खत्म हो ऐसा लगता नहीं है मुस्लिम विरोधी संगठन राजनीति में अपनी बढ़त के लालच में नए नए शब्द गढ़ते जा रहे ...