Monday, July 5, 2010

मानवता को पेश आने वाली किसी भी समस्या के समाधान में क़ुरआन मास्टर की (MASTER KEY) है DR.AYAZ AHMAD

बड़े -बड़े पुस्तक भंडार और बड़े -बड़े पुस्तकालय भी क़ुरआन का बदल नही बन सकती ।दुनिया के बड़े-बड़े बुद्धिजीवी ,दार्शनिक, विचारक , और स्कालर पूरी-पूरी ज़िँदगी खपा कर भी जीवन की जिन समस्याओं एवं गुत्थियोँ को सुलझाने में असफल रह गए , उन्हे क़ुरआन ने केवल शब्दों और एक-एक वाक्य में सुलझा दिया है । मानवता को पेश आने वाली किसी भी समस्या के समाधान में क़ुरआन मास्टर की (MASTER KEY ) है। (अबुल आला मोदूदी- हयात व ख़िदमात)

14 comments:

Dr. Ayaz ahmad said...

मौलाना अबुल आला मोदूदी (रह.) ने बिल्कुल सही फ़रमाया

Anonymous said...

क़ुरआन का हक है कि उसे पढ़ने व समझने का मूल उद्देश्य और उस पर सोच विचार करने का वास्तविक प्रेरक "क़ुरआन के अनुसार लोक एवं परलोक सँवारना "है

Shah Nawaz said...

बहुत खूब!



बाहर मानसून का मौसम है,
लेकिन हरिभूमि पर
हमारा राजनैतिक मानसून
बरस रहा है।
आज का दिन वैसे भी खास है,
बंद का दिन है और हर नेता
इसी मानसून के लिए
तरस रहा है।

मानसून का मूंड है इसलिए
इसकी बरसात हमने
अपने ब्लॉग
प्रेम रस
पर भी कर दी है।
राजनैतिक गर्मी का मज़ा लेना
इसे पढ़ कर यह मत सोचना
कि आज सर्दी है!

मेरा व्यंग्य: बहार राजनैतिक मानसून की

Mohammed Umar Kairanvi said...

nice

Sharif Khan said...

कुरान पाक के मुताल्लिक़ बड़े उलमा का कहना है की हमने जब जब भी कुरान पढ़ा कुछ नया हासिल हुआ. इस बड़ा अजूबा और क्या हो सकता है.

सतीश सक्सेना said...

बहुत बढ़िया कहा है मौलाना ने,
अफ़सोस यह है कुछ बदकिस्मत लोग इस पवित्र किताब का सही अर्थ नहीं समझते, ऐसे लोग अनजाने में इस्लाम का नाम बदनाम करने में अपना योगदान देते हैं !

DR. ANWER JAMAL said...

कुरआन एक नसीहत है अमल के लिए । नसीहत हासिल करो नेक अमल करो तो मालिक आपका मार्गदर्शन करेगा । आपको मंजिल मिलेगी आपका कल्याण होगा ।

Anonymous said...

कहाँ है और कौन है वह लोग जो क़ुरआन पर चलते है? हमें तो दूसरा ही रूप दिखाई देता है

Anjum Sheikh said...

हिजाब के ऊपर मैंने एक लेख लिखा है, मेरे ब्लॉग पर ज़रूर देखिएगा.

MLA said...

Nice Post Ayaz bhai.... bahut zabardast

सहसपुरिया said...

डा० साहब इस बारे में तो कोई दो राय नही है,
क्या ही अच्छा होता अगर तफ़सील से लिखते...

Anonymous said...

http://www.healthymuslim.com/

Anonymous said...

http://www.healthymuslim.com/articles/mdhpn-black-seed-oil-nigella-sativa-and-its-disease-preventing-effects.cfm

http://www.healthymuslim.com/articles/hcvho-principles-concerning-infectious-disease-al-adwaa-in-light-of-the-swine-flu-drama---part-1.cfm

Sharif Khan said...

अच्छा लिखते हैं.
मेंने वन्देमातरम पर कुछ इज़हारे ख्याल किया है देखने की ज़हमत फरमाएं तो ममनून होऊंगा.

लव जिहाद से लैंड जिहाद तक

 जिहाद से जुड़ी शब्दावली शायद कहीं खत्म हो ऐसा लगता नहीं है मुस्लिम विरोधी संगठन राजनीति में अपनी बढ़त के लालच में नए नए शब्द गढ़ते जा रहे ...